होम हमारे बारे में

हमारे बारे में :


दौर बदलने की जिद ------------------------


यह बात जितनी सत्य है कि आज का दौर विकास और उन्नति का है तो उतनी ही यह बात सत्य है कि आज के दौर में मानव संवेदना मिट रही है।लोग विकास के पीछे अंधी दौड़ दौड़ रहे हैं। वर्जनायें टूट रही है ऐसे दौर में पत्रकारिता का महत्व और जिम्मेदारी बढ़ जाती हैं । शायद यही कारण है कि न्यायपालिका , कार्यपालिका विधायिका के बाद पत्रकारिता को लोकतन्त्र का चौथा स्तम्भ कहा गया है। पत्रकरिता दिशाहीन समाज को एक आइना दिखाने का काम करती है। आज के इस दौर में जब समाज के हर क्षेत्र में भ्रष्टाचार का बोलबाला है लोग एक दूसरे की आवाज नहीं सुन रहे है। गरीब और गरीब होता जा रहा है किसानों की हालत जितनी अच्छी होनी चाहिये वैसी नहीं है। ऐसे समय में जब पत्र – पत्रिकाओं,न्यूज़ चैनेलोऔर वेब पोर्टलो की भीड़ भी है ऐसे में विजडम इण्डिया डिजिटल पत्रकारिता के क्षेत्र में एक नन्हें सूरज की तरह उदय हुवा है। जिसे आपके स्नेह और आषीर्वाद की अपेक्षा है। हमारी यह कोषिष रहेगी कि समाज राष्ट्र और विष्व में घटने वाले प्रत्येक महत्वपूर्ण घटना का सच आपके सामने रखे। और आपको सच्चाई से अवगत करायें। हमारा यह प्रयास होगा कि हम स्वच्छ और निष्पक्ष पत्रकारिता के जरिये एक ऐसे समाज का निर्माण करें। जिसका सपना हमारे राष्ट्रपिता महात्मा गांधी देखते थे।हम उन आदर्षों को पूरा करें जो सरदार पटेल और शास्त्री जी ने रंचे थे। हमें यकीन ही नहीं वरन पूर्ण विष्वास है कि हमारे इस प्रयास को स्नेह और आषीर्वाद मिलेगा। इसी के साथ हम आपको यह विष्वास दिलाते है कि विजडम इण्डिया स्वच्छ और निष्पक्ष पत्रकारिता के जरिये समाज में पल रहे भ्रष्टाचार का पर्दाफाश करेगी।और हम आपके सामने समाज और राष्ट्र में घटने वाली महत्वपूर्ण घटना को आपके समक्ष निष्पक्षता से पेश करेगे । विजडम इण्डिया नामक पुष्प का समर्पण डिजिटल मीडिया के माध्यम से आपके समक्ष करते हुये मुझे बेहद ख़ुशी हो रही है और हम आपसे उम्मीद रखते है कि इस पुष्प की हर पंखुड़ी को अपने प्यार से सीचेंगे ताकि यह पुष्प् कभी मुरझाने न पायें और अपनी सुगन्ध से चारों दिशाओं को सुवाचित करें। हम पत्रकारिता के माध्यम से वह सुबह लाने की चेष्टा करेगे जिसका हर पल गर्व से भरा हो ----


आपका
शील कुमार शुक्ल